e-Shram Card: अगर आपको भी आ रही है ई-श्रम कार्ड बनाने में दिक्कत, तो करिए इस ट्रिक का इस्तेमाल

नई दिल्ली:  e-Shram Card: असंगठित क्षेत्र में काम करने वाले करोड़ों कामगारों के लिए मोदी सरकार ने ई-श्रम पोर्टल (e-shram Portal) लॉन्च किया. इस पोर्टल पर अब तक 2 करोड़ से अधिक श्रमिक रजिस्ट्रेशन करा चुके हैं. ई-श्रम कार्ड बनवाने वालों की इस समय जन सेवा केंद्रों पर भारी भीड़ उमड़ रही है. कार्ड बनावाने वालों की संख्या की वजह से से सर्वर पर भारी लोड के कारण लोगों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है. कई लोगों को आधार नंबर और कैप्चा कोड डालने के बाद भी  Currently experiencing heavy traffic, Please try after sometime का मैसेज आ रहा है. अगर आपको भी ऐसा मैसेज आ रहा है तो हम आपको एक ऐसा तरीका बताने जा रहे हैं, जिसकी मदद से आसानी से आप ई-श्रम कार्ड बना पाएंगे.

ऐसे करिए ट्राई

ई-श्रम कार्ड बनाने के लिए एक बार इस ट्रिक को अपना कर देखिए. इसके लिए आप रात को 12 बजे से सुबह तक ई-श्रम पोर्टल खोलिए. ये काम आप अपने घर पर लैपटॉप या मोबाइल पर ही कर सकते हैं. सबसे पहले आप ई-श्रम पोर्टल https://www.eshram.gov.in/ खोलिए. यहां आपको रजिस्ट्रेशन करना होगा, जिसके लिए आधार नंबर डालना पड़ेगा. आधार नंबर डालते ही वहां के डाटा बेस से कामगार की सभी जानकारियां अपने आप पोर्टल पर सामने दिख जाएंगी. आपको अपने बैंक की जानकारी के साथ मोबाइल नंबर समेत दूसरी जरूरी जानकारियां भरनी होंगी. इस ऑनलाइन फॉर्म को आगे अपडेट भी किया जा सकेगा.

ये भी पढ़ें: Petrol-Diesel Price Today: फिर बढ़े पेट्रोल-डीजल के दाम, जानिए आपके शहर में क्या है आज की कीमत

मिलेगा 12 अंकों का यूनिक नंबर

केंद्रीय श्रम और रोजगार मंत्रालय असंगठित क्षेत्र के करीब 38 करोड़ मजदूरों के लिए 12 अंकों का यूनिवर्सल अकाउंट नंबर (UAN) और ई-श्रम कार्ड जारी करेगा, जो पूरे देश में मान्य होगा. ई-श्रम कार्ड से देश के करोड़ों असंगठित कामगारों को एक नई पहचान मिलेगी. ये श्रम कार्ड भविष्य में उन्हें सरकार के सामाजिक सुरक्षा योजनाओं का फायदा देने में मदद करेगा. इस पोर्टल पर कंस्ट्रक्शन वर्कर्स, प्रवासी मजदूर, रेहड़ी-पटरी वाले अपना रजिस्ट्रेशन करवा सकते हैं.

इसलिए बनाया गया है पोर्टल

देश में असंगठित क्षेत्र के तीन-चार तरह के श्रमिक या मजदूर काम करते हैं, जिन्हें काफी मदद की जरूरत है. इसमें ग्रामीण इलाकों में खेती के काम या मेहनत मजदूरी करने वाले, दूसरे जो शहरों आदि में घरों में काम करते हैं. वहीं तीसरे वो जो खुद का रोजगार करते हैं, जैसे- रेहड़ी, पटरी वाले. इसके अलावा कंस्ट्रक्शन के काम में लगे मजदूर को भी सामाजिक सुरक्षा की जरूरत है. कोरोना काल में कई स्कीमें चलाई गई, लेकिन उस वक्त समस्या ये थी कि किस मजदूर या श्रमिक तक मदद पहुंच पाएगी या नहीं, इसके लिए कोई डाटाबेस नहीं या रिकॉर्ड नहीं था. ऐसा इसलिए क्योंकि ये मजदूर एक जगह नहीं रहते हैं. जहां काम मिलता है वहां चले जाते हैं.

ये भी पढ़ें: Best Mutual Fund: अगर आप म्यूचुअल फंड में निवेश करना चाहते हैं, तो ये हैं बेस्ट ऑप्शन; 5 साल में दिया है सबसे ज्यादा रिटर्न

ई-श्रम पोर्टल और कार्ड से जुड़ी कुछ महत्वपूर्ण बातें

  • देश के असंगठित क्षेत्र के मजदूरों के लिए ई-श्रम पोर्टल बनाया गया है.
  • इस पोर्टल पर देश के हर मजदूर का रिकॉर्ड रखा जाएगा.
  • इससे पीएम श्रम योगी मानधन योजना का लाभ मिलेगा.
  • इससे प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना का लाभ मिलेगा.
  • प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना के दायरे में आएंगे मजदूर.
  • मुश्किल घड़ी में श्रमिकों को योजनाओं का मिलेगा लाभ.
  • ई-श्रम पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन से 25 लाख रुपये का दुर्घटना बीमा.
  • दुर्घटना बीमा पर एक साल का प्रीमियम सरकार देगी.
  • रजिस्टर्ड श्रमिक की मृत्यु होने पर परिजनों को 2 लाख रुपये मिलेंगे, वहीं पूर्ण अपंग होने पर मजदूर 2 लाख रु. का हकदार होगा.
  • आंशिक रूप से विकलांग को 1 लाख रुपये मिलेगी.
  • ई-श्रम कार्ड पूरे देश में होगा मान्य.
  • दूसरे राज्यों में काम मिलने में भी होगी आसानी.
  • देश के करोड़ों असंगठित कामगारों को पहचान मिलेगी.

LIVE TV





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *