Aamir Khan पटाखों वाली एड को लेकर हुए ट्रोल, BJP सांसद ने भी साधा निशाना

नई दिल्ली: इन दिनों हर तरफ क्रिकेट वर्ल्ड कप और दिवाली के मौके पर टीवी पर कई तरह के नए विज्ञापन आने शुरू हो चुके हैं. इसी बीच सड़क पर पटाखा ना फोड़ने की अपील को लेकर बॉलीवुड एक्टर आमिर खान (Aamir Khan) का भी एक विज्ञापन सामने आया है. लेकिन इस विज्ञापन के कारण अब आमिर खान के लिए मुसीबत सामने आ गई है. वह सोशल मीडिया पर ट्रोल हो रहे हैं. साथ ही कर्नाटक से बीजेपी के सांसद अनंतकुमार हेगड़े ने भी उनके विरोध में एक पत्र लिखा है. 

हिंदुओं में अशांति की कही बात

अनंतकुमार हेगड़े ने सड़क पर पटाखा न फोड़ने की अपील वाले हालिया विज्ञापन पर आपत्ति जताते हुए टायर कंपनी के प्रमुख को पत्र लिखा है. उन्होंने आशा व्यक्त की कि भविष्य में कंपनी हिंदुओं की भावनाओं का सम्मान करेगी और उन्हें आहत नहीं करेगा, क्योंकि इस तरह के विज्ञापन हिंदुओं में अशांति पैदा कर रहे हैं. कंपनी के प्रबंध निदेशक और सीईओ अनंत वर्धन गोयनका को 14 अक्टूबर को लिखे एक पत्र में अनंतकुमार ने उस विज्ञापन पर आपत्ति जताई, जिसमें बॉलीवुड स्टार आमिर खान लोगों को सड़कों पर पटाखे न फोड़ने की सलाह देते हैं.

सड़क पर नमाज का भी हो विरोध

इस पत्र में हेगड़े ने यह भी लिखा है, ‘कंपनी को नमाज के नाम पर सड़कों को अवरुद्ध करने और अजान के दौरान मस्जिदों से होने वाले ध्वनि प्रदूषण की समस्या का भी समाधान करना चाहिए.’

आमिर को बताया हिंदू विरोधी अभिनेता 

हेगड़े ने कहा, ‘चूंकि आप आम जनता के सामने आने वाली समस्याओं के प्रति उत्सुक और संवेदनशील हैं और आप भी हिंदू समुदाय से हैं. मुझे यकीन है कि आप सदियों से हिंदुओं के साथ किए गए भेदभाव को महसूस कर सकते हैं. हिंदू विरोधी अभिनेताओं का एक समूह हमेशा हिंदू भावनाओं को आहत करता है, जबकि वे कभी भी अपने समुदाय के गलत कामों को उजागर करने की कोशिश नहीं करते हैं.’

संदेश तो ठीक है लेकिन…

उन्होंने प्रबंधन से हिंदुओं में अशांति पैदा करने वाली कंपनी के हालिया विज्ञापन पर ध्यान देने का अनुरोध किया. हेगड़े ने कहा, ‘आपकी कंपनी का हालिया विज्ञापन, जिसमें आमिर खान लोगों को सड़कों पर पटाखे ना फोड़ने की सलाह देते हैं, एक अच्छा संदेश दे रहे हैं. सार्वजनिक मुद्दों के प्रति आपकी चिंता के लिए तालियों की जरूरत है. इस संबंध में, मैं आपसे अनुरोध करता हूं कि सड़कों पर लोगों के सामने आने वाली एक और समस्या का समाधान करें. मुसलमानों से कहिए कि वे शुक्रवार और अन्य महत्वपूर्ण उत्सव के दिनों में नमाज के नाम पर सड़कों को अवरुद्ध न करें.’ कई भारतीय शहरों में यह एक बहुत ही आम दृश्य है, जहां मुसलमान व्यस्त सड़कों को अवरुद्ध करते हैं और नमाज अदा करते हैं और उस समय, वाहन, एम्बुलेंस और अग्निशामक यातायात जाम में फंस जाते हैं, जिससे गंभीर नुकसान होता है. हमारे देश में हर दिन अजान देते समय मस्जिदों के ऊपर लगे माइक से तेज आवाज निकलती है. शुक्रवार को, मस्जिदों में नमाज लंबी होती है. यह उन लोगों के लिए एक बड़ी असुविधा है, जिन्हें स्वास्थ्य संबंधी समस्या है, जो आराम कर रहे हैं और पढ़ा रहे हैं.’

पहले भी हुए हैं विवाद 

आपको याद दिला दें कि आमिर खान ऐसे विवाद में पहली बार नहीं उलझे हैं, बल्कि पहले भी वह अपने कुछ बयानों के चलते लोगों के निशाने पर आ चुके हैं. कुछ साल पहले वह यह कहकर फंस गए थे कि उनकी पत्नी किरण को भारत में रहने में डर लगता है. 

इसे भी पढ़ें: Drug Case: ‘क्या आपने कभी ड्रग्‍स लिया’, Ananya Panday से चरस-गांजा को लेकर पूछे गए ये 12 सवाल

एंटरटेनमेंट की लेटेस्ट और इंटरेस्टिंग खबरों के लिए यहां क्लिक कर Zee News के Entertainment Facebook Page को लाइक करें





Source link

Entertainment