सेल्फी की सनक में जीते-जागते मगरमच्छ को समझ लिया प्लास्टिक, फिर हुआ कुछ भयानक

मनीला: फिलीपींस (Philippines) के एक अम्यूजमेंट पार्क में पहुंचे शख्स की जान उस वक्त आफत में पड़ गई, जब वो जीते-जागते मगरमच्छ (Crocodile) को प्लास्टिक का समझ बैठा. सेल्फी लेने की सनक में वो मगरमच्छ के ठीक पास पहुंच गया और इसके बाद जो हुआ वो रौंगटे खड़े करने वाला था. शख्स अपने जन्मदिन के मौके पर अम्यूजमेंट पार्क का लुत्फ उठाने आया था, लेकिन उसकी एक गलती से सब कुछ खराब हो गया. 

शख्स को घसीटकर पानी में ले गया

‘डेली मेल’ की रिपोर्ट के अनुसार, 68 वर्षीय नेहेमियास चिपाडा (Nehemias Chipada) अपने जन्मदिन के मौके पर कैगायन डे ओरो सिटी स्थित अम्यूजमेंट पार्क (Amusement Park) गए थे. यहां वो 12 फीट लंबे मगरमच्छ (Crocodile) को प्लास्टिक का समझ बैठे और उसके पास सेल्फी लेने चले गए. तभी अचानक मगरमच्छ ने उनके हाथ पर झपट्टा मारा और उन्हें अपने साथ पानी में ले गया. यह नजारा देखकर चीख-पुकार मच गई. 

ये भी पढ़ें -अफ्रीकी महिला ने भगवान विष्णु पर लिखी ऐसी किताब, मुस्लिम-ईसाई भी कर रहे तारीफ

पकड़ ढीली होते ही भाग निकला 

कुछ देर तक नेहेमियास चिपाडा दर्द से तड़पते रहे और जैसे ही मगरमच्छ की पकड़ ढीली हुई वो बचकर भाग निकले. दरअसल, मगरमच्छ अपने लिए बनाये गए एक छोटे से पूल में था, इसलिए नेहेमियास के लिए बाहर निकलना संभव हो सका. शख्स का एक हाथ इस हमले में बुरी तरह घायल हो गया है. वहीं, इस घटना के लिए पीड़ित और उसके परिवार ने अम्यूजमेंट पार्क को ही दोषी ठहराया है.

पार्क प्रबंधन पर लगाया आरोप

नेहेमियास का कहना है कि पार्क प्रबंधन को सूचना देनी चाहिए कि मगरमच्छ असली है. वो कम से कम एक बोर्ड तो टांग ही सकते हैं. यदि प्रबंधन ने ऐसा कुछ किया होता तो ये हादसा नहीं होता. नेहेमियास की बेटी ने कहा कि मगरमच्छ के बाड़े के आगे कोई चेतावनी संकेत नहीं था. अगर ऐसा होता तो मेरे पिता कभी भी इतना करीब नहीं जाते. वहीं, पार्क के चीफ ऑपरेटिंग ऑफिसर ने सभी आरोपों से इनकार किया है. उनका कहना है कि नेहेमियास जिस क्षेत्र में गए वो प्रतिबंधित है.  

 





Source link

World