रिटर्न फाइलिंग में हो रही आसानी: I-T रिटर्न फाइलिंग पोर्टल में आ रहीं कई दिक्कतें दूर, फाइल हो चुके हैं 2 करोड़ से ज्यादा रिटर्न

  • Hindi News
  • Business
  • Many Technical Glitches Fixed On IT Return Filing Portal Removed, More Than 2 Crore Returns Filed On The Portal

नई दिल्ली2 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक
  • ई-फाइलिंग के लिए उपलब्ध कराए गए हैं सभी रिटर्न
  • 1.70 करोड़ से ज्यादा रिटर्न ई-वेरिफाई किए जा चुके हैं
  • असेसमेंट ईयर 2021-22 के लिए 36.22 लाख रिफंड जारी

I-T रिटर्न फाइलिंग पोर्टल में आ रही कई दिक्कतों को दूर कर लिया गया है। वित्त मंत्रालय के मुताबिक पोर्टल के परफॉर्मेंस में खासा स्थायित्व आ चुका है। 7 जून 2021 को लॉन्च होने के बाद से ही नए पोर्टल www.incometax.gov.in पर समस्याएं आ रही थी।

रिटर्न फाइल करने वालों की संख्या 2 करोड़ से ज्यादा

मंत्रालय के मुताबिक, पोर्टल पर 13 अक्टूबर 2021 तक इनकम टैक्स रिटर्न फाइल करने वालों की संख्या 2 करोड़ से ज्यादा हो गई है। इनकम टैक्स डिपार्टमेंट की वेबसाइट पर मौजूद डेटा के मुताबिक, असेसमेंट ईयर 2018-19 यानी वित्त वर्ष 2017-18 के लिए 5.80 करोड़ रिटर्न फाइल किए गए थे।

सभी रिटर्न ई-फाइलिंग के लिए उपलब्ध करा दिए गए हैं

वित्त मंत्रालय ने बयान जारी कर कहा है कि सभी आयकर रिटर्न ई-फाइलिंग के लिए उपलब्ध करा दिए गए हैं। उसके मुताबिक, असेसमेंट ईयर 2021-22 के लिए 2 करोड़ से ज्यादा ITR फाइल किए जा चुके हैं। इनमें 86% ITR-1 और ITR-4 हैं।

कौन फाइल कर सकते हैं ITR-1 और ITR-2 ?

जिन लोगों को 50 लाख रुपए सालाना की सैलरी इनकम और एक हाउस प्रॉपर्टी होती है और आय के दूसरे स्रोत होते हैं, उन्हें ITR-1 फाइल करना होता है। जो लोग ITR-1 फाइल नहीं कर सकते और जिनकी किसी बिजनेस या प्रोफेशनल इनकम नहीं है, वे ITR-2 फाइल कर सकते हैं।

ई-वेरिफाई किए जा चुके हैं 1.70 करोड़ से ज्यादा रिटर्न

सरकार ने बयान जारी कर बताया है कि 1.70 करोड़ से ज्यादा रिटर्न ई-वेरिफाई किए जा चुके हैं। इनमें से 1.49 करोड़ रिटर्न आधार बेस्ड OTP के जरिए हुए हैं। ITR प्रोसेस शुरू होने और रिफंड जारी किए जाने के लिए आधार OTP और दूसरे तरीकों से ई-वेरिफिकेशन करना जरूरी होता है।

AY2021-22 के लिए जारी कर दिए गए हैं 36.22 लाख रिफंड

मंत्रालय के मुताबिक वेरिफाई किए गए ITR-1 और ITR-4 में से 1.06 करोड़ ITR प्रोसेस कर दिए गए हैं। असेसमेंट ईयर 2021-22 के लिए 36.22 लाख रिफंड जारी कर दिए गए हैं। वित्त मंत्रालय ने कहा कि ITR-2 और ITR-3 की प्रोसेसिंग जल्द शुरू की जाएगी।

कौन फाइल कर सकते हैं ITR-3 और ITR-4 रिटर्न

ITR-3 वो लोग या HUF फाइल कर सकते हैं जो किसी बिजनेस या प्रोफेशन में होते हैं और ITR-4 फाइल नहीं कर सकते। ITR-4 यानी सुगम का इस्तेमाल वो लोग, HUF या पार्टनरशिप फर्म कर सकते हैं जो अपनी इनकम प्रिजम्पटिव बेसिस पर डिस्क्लोज कर सकते हैं।

NRI के डिजिटल सिग्नेचर (DSC) का रजिस्ट्रेशन चालू हो गया है

सरकार ने कहा है कि NRI के डिजिटल सिग्नेचर (DSC) का रजिस्ट्रेशन चालू हो गया है और कुल 4.87 लाख DSC रजिस्टर्ड हो गए हैं। इसके अलावा 21.40 लाख से ज्यादा ई-पैन मुफ्त में ऑनलाइन आवंटित किए गए हैं। पंजीकरण और अनुपालन के लिए कानूनी वारिस संबंधी कार्य को संभव बना दिया गया है।

पोर्टल पर 13.44 करोड़ से ज्यादा करदाताओं ने लॉग-इन किया

वित्त मंत्रालय की तरफ से जारी बयान के मुताबिक, 13 अक्टूबर 2021 तक करदाताओं ने पोर्टल पर 13.44 करोड़ से ज्यादा बार लॉग-इन किया है। उसके मुताबिक, लगभग 54.70 लाख करदाताओं ने पासवर्ड हासिल करने के लिए ‘फॉरगेट पासवर्ड’ सुविधा का लाभ उठाया है।

खबरें और भी हैं…



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *