बड़ा हादसा: रूस के साइबेरिया की कोयला खदान में आग से 11 की मौत, 35 मजदूर अब भी फंसे

मॉस्को8 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

रूस के साइबेरिया प्रांत में मौजूद एक कोयला खदान में गुरुवार को आग लग गई। अब तक 11 मजदूरों के मारे जाने की खबर है। 35 मजदूर अब भी फंसे हुए हैं। इनसे किसी तरह का संपर्क नहीं हो पा रहा है। इमरजेंसी डिपार्टमेंट ने बेहद खराब मौसम और खतरनाक हालात को देखते हुए फिलहाल, ऑपरेशन बंद कर दिया है। माना जा रहा है कि आग यहां के एक इलेक्ट्रिक वेंटिलेशन शॉफ्ट में लगी और यह तेजी से खदान के अंदर तक पहुंच गई। वहां मौजूद बारीक कोयले की वजह ये यह ज्यादा तेजी से भभकी।

गवर्नर का बयान
हादसे की शुरुआत में यहां का कोई अधिकारी इस बारे में बयान देने तैयार नहीं था। देर शाम गवर्नर सर्गेई तिविल्सेव सामने आए। उन्होंने कहा- अब तक 11 लोगों की मौत हो चुकी है। इनमें ज्यादातर मजदूर हैं। 35 कर्मचारी अब भी लापता हैं, इनसे संपर्क नहीं हो पा रहा है। खदान में सभी तरह के ऑपरेशन बंद कर दिए गए हैं।

न्यूज एजेंसी के मुताबिक, हालात इस कदर खराब हैं कि अगर इमरजेंसी टीम ने ऑपरेशन शुरू किया तो उनकी जान भी खतरे में पड़ सकती है। इलाके में गहरी धुंध और बर्फ है। वहां किसी भी ब्लास्ट हो सकता है।

इमरजेंसी सर्विस ने खतरे की वजह से रेस्क्यू ऑपरेशन फिलहाल रोक दिया है।

इमरजेंसी सर्विस ने खतरे की वजह से रेस्क्यू ऑपरेशन फिलहाल रोक दिया है।

आम लोगों को भी दिक्कत
इलाके में कुछ लोगों ने सांस लेने में दिक्कत की शिकायत की है। लोकल मेडिकल टीम का कहना है कि धुएं में जहरीली गैसों की वजह से हालात खराब हो रहे हैं। इन गैसों में कुछ ज्वलनशील हैं और इसके चलते बड़ा धमाका हो सकता है, आग लग सकती है। कुछ लोगों को हॉस्पिटल में एडमिट कराया जा चुका है। इनमें से चार की हालत गंभीर बताई गई है। यह इलाका मॉस्को से करीब साढ़े तीन हजार किलोमीटर दूर है।

रूस सरकार ने घटना की जांच स्पेशल क्राइम यूनिट को सौंप दी है।

रूस सरकार ने घटना की जांच स्पेशल क्राइम यूनिट को सौंप दी है।

सही आंकड़ा पता नहीं
गवर्नर का दावा है कि हादसे के वक्त खदान में 46 कर्मचारी थे। कुछ मीडिया रिपोर्ट्स में कहा जा रहा है कि कुल 289 लोग माइनिंग साइट पर थे। ये भी साफ नहीं है कि घटना का असली कारण क्या है। इस बीच, रूस सरकार ने कहा है कि इस मामले की जांच स्पेशल यूनिट करेगी और जिम्मेदार लोगों को बख्शा नहीं जाएगा।

खबरें और भी हैं…



Source link

World