पेगासस स्कैंडल: इजराइल UAE सहित 65 देशों को नहीं बेचेगा साइबर टेक्नोलॉजी, भारत इस लिस्ट से बाहर

  • Hindi News
  • International
  • Defense Ministry Israeli Companies Cyber Technologies Spyware Firm NSO Group 37 Countries | Morocco And The UAE Saudi Arabia And Mexico Pegasus Spyware Jamal Khashoggi

यरूशलम2 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

पेगासस जासूसी कांड के खुलासे के बाद दुनियाभर में इजराइल की आलोचना हो रही है। इस बीच यहूदी देश ने बड़ा फैसला लिया है। टाइम्स ऑफ इजराइल की रिपोर्ट के मुताबिक इजराइल अब 65 देशों को साइबर टेक्नोलॉजी नहीं बेचेगा। इन देशों की लिस्ट में संयुक्त अरब अमीरात (UAE) और मोरक्को जैसे देशों का नाम भी है, हालांकि भारत को इस लिस्ट में शामिल नहीं किया गया है।

लिस्ट के मुताबिक इजराइल पिछले साल तक दुनिया के 102 देशों को साइबर टेक्नोलॉजी बेचता था। इस लिस्ट को कम कर अब 37 देशों को ही इसमें रखा गया है। इजराइल ने खासतौर पर उन देशों को लिस्ट से बाहर किया है, जिनकी मानवाधिकार के उल्लंघन को लेकर आलोचना होती रही है।

हालांकि, इस लिस्ट से सऊदी अरब और मैक्सिको को नहीं हटाने पर भी सवाल खड़े हो रहे हैं। सऊदी अरब पर वॉशिंगटन पोस्ट के पत्रकार जमाल खशोगी की हत्या के आरोप लगते रहे हैं।

एपल ने इजरायली कंपनी NSO पर मुकदमा किया
इससे पहले बुधवार को टेक कंपनी एपल ने पेगासस बनाने वाली इजरायली कंपनी NSO पर मुकदमा किया था। एपल ने कहा था कि यह कंपनी एक अरब से ज्यादा iPhone को निशाना बना रही है। एपल का कहना है कि दुनियाभर में 1.65 अरब एक्टिव एपल डिवाइसेज हैं, जिसमें से 1 अरब से ज्यादा iPhones हैं।

NSO पर पहले से भी कई मुकदमे चल रहे हैं। कंपनी का पेगासस स्पाइवेयर पिछले काफी समय से भारत समेत कई देशों में विवादों में है। कई रिपोर्ट्स में दावा किया गया था कि इजराइली स्पाइवेयर के जरिए हजारों की संख्या में एक्टिविस्ट, जर्नलिस्ट और राजनेताओं की जासूसी की गई है।

NSO को ब्लैकलिस्ट कर चुका है अमेरिका
अमेरिकी प्रशासन ने कुछ हफ्ते पहले ही NSO को ब्लैकलिस्ट किया है। कंपनी पर आरोप लग रहे थे कि वह विदेशी सरकारों के साथ मिलकर अंतरराष्ट्रीय दबाव बनाने की कोशिश कर रही है। कैलिफॉर्निया के फेडरल कोर्ट में एपल ने बयान दिया है कि अपने यूजर्स को हानि से बचाने के लिए एपल NSO ग्रुप पर स्थायी बैन चाहता है ताकि वह एपल के सॉफ्टवेयर, सर्विस और डिवाइसेज को किसी तरह इस्तेमाल न कर सके।

क्या है पेगासस स्पाइवेयर
पेगासस एक स्पाइवेयर है। स्पाइवेयर यानी जासूसी या निगरानी के लिए इस्तेमाल होने वाला सॉफ्टवेयर। इसके जरिए किसी फोन को हैक किया जा सकता है। हैक करने के बाद उस फोन का कैमरा, माइक, मैसेजेस और कॉल्स समेत तमाम जानकारी हैकर के पास चली जाती है। इस स्पाइवेयर को इजराइली कंपनी NSO ग्रुप ने बनाया है।

पेगासस को किसी भी फोन या किसी अन्य डिवाइस में रिमोटली इंस्टॉल किया जा सकता है। सिर्फ एक मिस्ड कॉल करके भी आपके फोन में पेगासस को इंस्टॉल किया जा सकता है। इतना ही नहीं, वॉट्सऐप मैसेज, टेक्स्ट मैसेज, SMS और सोशल मीडिया के जरिए भी यह आपके फोन में भी इसे इंस्टॉल किया जा सकता है।

खबरें और भी हैं…



Source link

World