पश्चिम बंगाल: TMC में वापसी के लिए 200 BJP कार्यकर्ताओं ने सिर मुंडवा कर किया ‘प्रायश्चित’

<p style="text-align: justify;">पश्चिम बंगाल के हुगली में करीब 200 बीजेपी कार्यकर्ताओं ने मंगलवार को अपना सर मुंडा कर टीएमसी में वापसी की. इन कार्यकर्ताओं ने बीजेपी से जुड़ना अपनी गलती बताया और प्रायश्चित के तौर पर सिर मुंडवा कर गंगा जल छिड़क कर शुद्ध होकर टीएमसी में वापसी शामिल हुए. &nbsp;</p>
<p style="text-align: justify;">हुगली के आरामबाग इलाके में सांसद अपरूपा पोद्दार का हाथ पकड़कर इन बीजेपी कार्यकर्ताओं ने फिर एक बार टीएमसी का झंडा थामा. टीएमसी की ओर से अपरूपा पोद्दार ने आरामबाग में गरीबों के लिए मुफ्त भोजन का कार्यक्रम रखा गया था. इसी दौरान दलित समुदाय के लोग आए और कहा कि बीजेपी में शामिल होना हमारी गलती थी और सिर मुंडवा कर प्रायश्चित कर हम टीएमसी में वापसी करना चाहते हैं.</p>
<p style="text-align: justify;">उन कार्यकर्ताओ ने बताया की कुछ दिनों पहले ही बीरभूम में सैंकड़ों बीजेपी कार्यकर्ताओं पर गंगाजल छिड़ककर टीएमसी में वापस ज्वाइन करवाया गया था. विधानसभा चुनाव में टीएमसी की जीत के बाद से ही पश्चिम बंगाल के कई जिलों में सैकड़ों की तादाद में घर वापसी हो रही है. &nbsp;</p>
<blockquote class="twitter-tweet">
<p dir="ltr" lang="hi">बंगाल में ऐसे मुंडन करवा के हो रही है BJP से TMC में घर वापसी ।<br />हुगली ज़िले की तस्वीरें । <a href="https://t.co/xh2dUog8Yp">pic.twitter.com/xh2dUog8Yp</a></p>
&mdash; Manogya Loiwal मनोज्ञा लोईवाल (@manogyaloiwal) <a href="https://twitter.com/manogyaloiwal/status/1407362144715214849?ref_src=twsrc%5Etfw">June 22, 2021</a></blockquote>
<p>
<script src="https://platform.twitter.com/widgets.js" async="" charset="utf-8"></script>
</p>
<p style="text-align: justify;">बीजेपी कार्यकर्ता जो टीएमसी में शमिल हो रहे थे उन्होंने मुंडन करते वक्त बताया, &ldquo;हम लोगों ने ममता दीदी का हाथ छोड़कर गलती की हैं. हम लोगों को बहुत ख़ुशी है कि वे तीसरी बार हमारी मुख्यमंत्री बनी हैं. हम लोग उनके नेतृत्व में आगे बढ़ना चाहते हैं. &nbsp;हमलोग यहां इस मिटटी में बीजेपी नहीं कर सकते हैं. &nbsp;यह एक शांत शहर हैं. मुश्किल के समय सिर्फ TMC के नेताओ ने मदद की BJP के एक भी नेता सामने नहीं आये.&rdquo;</p>
<p style="text-align: justify;">यह कोई पहली बार नहीं हैं इसके पहले भी टीएमसी में शामिल होने के लिए कुछ कार्यकर्ता सड़क पर भूख हड़ताल के लिए बैठ गए जिसके बाद गंगाजल छिड़क कर उन्हें शामिल किया गया.&nbsp;</p>
<p style="text-align: justify;">वही दूसरी ओर भाजपा इसे जान का डर बता रही है. भाजपा विधायकों और सांसदों का कहना है कि कार्यकर्ता बेचारा क्या करे यदि उसे जिंदा रहना है तो उसे टीएमसी के साथ जाना ही पड़ रहा है. वरना टीएमसी के गुंडे बेचारे कार्यकर्ताओं को जीने नहीं देंगे.</p>
<p style="text-align: justify;"><strong>ये भी पढ़ें: <a href="https://www.abplive.com/news/india/alapan-bandopadhyay-got-the-notice-of-the-center-tmc-says-bjp-is-doing-politics-of-revenge-ann-1930612">आलापन बंदोपाध्याय को मिले केंद्र के नोटिस पर भड़की टीएमसी, कहा- बीजेपी कर रही बदले की राजनीति</a></strong></p>



Source link

India