नशेड़ियों के खिलाफ तालिबान की मुहिम, ऐसे कर रहा इलाज

एक उपचार सुविधा में काम कर रहे डॉ फजलराबी मेयर ने कहा कि हम अब लोकतंत्र में नहीं हैं, यह तानाशाही है और बल प्रयोग ही इन लोगों के इलाज का एकमात्र तरीका है. वह विशेष रूप से हेरोइन और मेथी के आदी अफगानों का जिक्र कर रहे थे. डॉक्टरों ने कहा कि 15 अगस्त को तालिबान के सत्ता में आने के तुरंत बाद, तालिबान के स्वास्थ्य मंत्रालय ने एक आदेश जारी किया था, जिसमें नशे की समस्या को सख्ती से नियंत्रित करना शामिल था. (All Photo Credit-AFP)



Source link

World