घटते कोरोना टेस्ट पर केंद्र अलर्ट: 13 राज्यों को चिट्‌ठी लिखकर टेस्टिंग बढ़ाने को कहा; बंगाल में बढ़ते पॉजिटिविटी रेट पर चिंता जताई

  • Hindi News
  • National
  • Karnataka Coronavirus Outbreak Update; 39 Medical Students Test Positive For Covid 19 In Dharwad

3 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

स्वास्थ्य मंत्रालय ने लिखा कि टेस्टिंग ठीक से नहीं की गई तो लोगों में संक्रमण फैलने का सही अनुमान लगाया मुश्किल होगा। -फाइल फोटो

कोरोना के नए केस फिर सामने आने के बाद केंद्र सरकार अलर्ट मोड में आ गई है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने चिट्‌ठी लिखकर 13 राज्यों से कोविड टेस्ट बढ़ाने की अपील की है। केंद्र ने कहा है कि अगर टेस्टिंग में कमी की गई तो संक्रमण का सही आकलन नहीं किया जा सकेगा।

स्वास्थ्य मंत्रालय ने बंगाल में कोरोना टेस्ट की तादाद लगातार घटने पर चिंता जाहिर की है। चिट्‌ठी में कहा गया है कि पिछले कुछ दिनों के अंदर पॉजिटिविटी रेट में भी बढ़ोतरी हुई है।

स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने पत्र में लिखा कि टेस्टिंग ठीक से नहीं की गई तो लोगों में संक्रमण फैलने का सही अनुमान लगाया मुश्किल होगा। उन्होंने बंगाल के स्वास्थ्य विभाग के प्रमुख सचिव स्वरूप निगम को पत्र लिखकर कहा कि जून 2021 तक एवरेज 67,644 टेस्ट किए जा रहे थे। इन्हें अब घटाकर 22 नवंबर तक 38,600 टेस्ट रोजाना कर दिया गया है।

देश में 10 करोड़ लोगों ने नहीं लगवाया कोरोना का दूसरा टीका; क्या ऐसे लोगों को तीन टीके लगवाने पड़ेंगे?

एंटीजन टेस्ट की जगह RT-PCR पर ध्यान दें
भूषण ने पत्र में आगे लिखा कि बंगाल में इस वक्त पॉजिटिविटी रेट 2.1% है। पिछले 4 हफ्तों में यह सबसे ज्यादा है। कई जिलों में पॉजिटिविटी रेट बढ़ रहा है। इनमें दार्जीलिंग, दक्षिण दिनाजपुर, हावड़ा, पश्चिम 24 परगना, दक्षिण 24-परगना, जलपाइगुड़ी और कोलकाता शामिल हैं। उन्होंने यह भी लिखा की एंटीजन टेस्ट की जगह RT-PCR टेस्ट पर ज्यादा ध्यान दिया जाना चाहिए।

इन राज्यों को भी लिखी चिट्‌ठी
स्वास्थ्य मंत्रालय ने बंगाल की तरह गोवा, जम्मू और कश्मीर, केरल, लद्दाख, महाराष्ट्र, मणिपुर, मेघालय, मिजोरम, नागालैंड, पंजाब, राजस्थान और सिक्किम को भी पत्र लिखा है। केरल को लिखे गए पत्र में मंत्रालय ने कहा है कि राज्य अगस्त महीने में 2.96 लाख कोरोना टेस्ट कर रहा था, जिसे घटाकर अब 56 हजार कर दिया गया है।

कर्नाटक में 66 मेडिकल स्टूडेंट पॉजिटिव
कोरोना की तीसरी लहर आने के संकेत मिलना शुरू हो गए हैं। कर्नाटक के धारवाड़ के SDM मेडिकल कॉलेज में गुरुवार को 66 स्टूडेंट कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। 400 छात्र वाले कॉलेज की बिल्डिंग के साथ ही 2 हॉस्टल भी सील कर दिए गए हैं। 300 छात्रों का कोरोना टेस्ट हो चुका है।

महाराष्ट्र के स्वास्थ्य मंत्री का दावा- दिसंबर में आएगी थर्ड वेव
महाराष्ट्र में कोरोना महामारी की तीसरी लहर दिसंबर में आ सकती है। यह बात राज्य के स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री राजेश टोपे ने बुधवार को कही। उन्होंने कहा कि राज्य में तीसरी लहर तो आएगी, लेकिन वह सेकेंड वेव जैसी नहीं होगी।
उन्होंने कहा कि राज्य में वैक्सीनेशन ज्यादा है इसलिए तीसरी लहर हल्की रहेगी। थर्ड वेव के दौरान मेडिकल ऑक्सीजन और आईसीयू बेड की जरूरत नहीं होगी। वहीं, एक्सपर्ट्स का भी दावा है कि लहर समय-समय पर अपनी निश्चित फ्रीक्‍वेंसी में आती हैं। पहली वेव सितंबर 2020 में आई थी। दूसरी लहर अप्रैल 2021 में आई थी। अब तीसरी लहर दिसंबर में आने की आशंका है।

खबरें और भी हैं…



Source link

India